大富豪国际网址

BiharonWeb Logo Upcoming Elections
Information on various aspects of history, geography, states, districts & personalities of India
||World Breastfeeding Week - 1st August to 7th August||
Bezawada Gopala Reddy was born today||David Baldacci was born today||Gopinath Bordoloi had died today.||Kesab Chandra Gogoi had died today.||
Home >> News >> असुरक्षा की भावना में असंतुलित हो गए हैं तेजस्वी यादव

असुरक्षा की भावना में असंतुलित हो गए हैं तेजस्वी यादव

image
Posted on: 22 Oct, 2018 Tags  

BiharonWeb: 22 Oct, 2018,

संविधान बचाओ न्याय यात्रा असल में है साख बचाओ ठिकाने लगाओ यात्रा 

राष्ट्रीय जनता दल के नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के अवसरवादी राजनीतिक विलाप को जनता समझ चुकी है। उनकी खुद की नैया डूबती दिख रही है तो अब वे संविधान की दुहाई दे रहे हैं। अपने सगे भाई के साथ अन्याय कर उनका हक मारकर न्याय यात्रा पर निकले हैं। तेजस्वी यादव के यात्रा की शुरुआत छपरा से करने के पीछे मकसद है कि अपने बड़े भैया तेजप्रताप यादव की दावेदारी वहां से खत्म की जाये। भाई ने छपरा पर नजर डाली तो तेजस्वी छपरा के साथ सीवान और गोपालगंज को भी कूच कर गये। असुरक्षा की भावना में इतना असंतुलन ठीक नहीं है। तेजस्वी यादव की यात्रा संविधान बचाओ न्याय यात्रा नहीं, बल्कि साख बचाओ ठिकाने लगाओ यात्रा है। तेजस्वी पार्टी के अंदर अपनी साख बचाने के लिए पारिवारिक दावेदारों को ठिकाने लगाने निकले हैं। उक्त बातें जदयू 大富豪国际网址के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कही है। राष्ट्रीय जनता दल के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव रविवार को गोपालगंज से अपनी 'संविधान बचाओ न्याय यात्रा' की शुरुआत कर चुके हैं। उनकी यात्रा के शुरू होने से एक दिन पहले शनिवार को बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (यू) ने एक खुला पत्र जारी कर उन्हें अपनी पार्टी में संविधान बचाने की भी नसीहत दी थी।

राजद के अध्यक्ष पद पर लालू यादव का होना असंवैधानिक

जद (यू) के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने पत्र में तेजस्वी को गोपालगंज दौरे में हृदयानंद चौधरी के परिजनों से मिलने की सलाह देते हुए कहा कि इस व्यक्ति ने आपके परिजनों को पटना में कीमती जमीन दान दी है। उन्होंने कहा, “चौधरी ने आपके परिजनों को पटना के दानापुर में करीब 7.75 डिसमिल जमीन दान में दी है। रेलमंत्री रहते हुए लालू प्रसाद ने इन्हें रेलवे में खलासी पद पर नौकरी दिलवाई थी, जिसके एवज में उनके नाम से बेनामी संपत्ति लिखवाई गई और फिर उसे उपहार स्वरूप वापस ले लिया गया।” उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, “संंविधान के तहत आपके पिता लालू प्रसाद यादव को न्यायपालिका ने चुनाव लड़ने के अयोग्य घोषित कर दिया है, जबकि राजद के अध्यक्ष अभी भी वही हैं। ऐसे में संविधान की मूल आत्मा की रक्षा के लिए क्या आप अपने पिता को पार्टी से बखार्स्त करेंगे ? जब आप अपनी पार्टी में ही संविधान के अनुसार कार्य नहीं कर सकते तो 'संविधान बचाओ न्याय यात्रा' कैसी ?” गोपालगंज को शक्तिपीठ थावे मंदिर की धरती बताते हुए नीरज ने ऐसे स्थानों पर उन्हें उनके निजी सचिव और देहव्यापार के आरोपी मणि यादव को भी साथ नहीं ले जाने की सलाह दी थी।

यह भी पढ़े- बार-बार धोखा खाकर भी जाति-धर्म के नाम पर देते हैं वोट

लोकसभा चुनाव से पहले काफी अहम मानी जा रही है तेजस्वी की यात्रा

बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव रविवार से अपनी संविधान बचाओ न्याय यात्रा का दूसरा चरण छपरा से शुरू किया है। तेजस्वी की इस यात्रा का दूसरा चरण 11 दिवसीय है। इस दौरान वो बिहार के कई जिलों में वर्तमान सरकार की नाकामियों समेत राज्य में बढ़ते अपराध, भ्रष्टाचार व अन्य मुद्दों को लेकर जनता को जागरूक करेंगे। 11 दिवसीय इस यात्रा में पटना समेत 12 जिलों में अलग-अलग कई सभाओं का आयोजन किया जाना है। पार्टी द्वारा जारी कार्यक्रम के मुताबिक आगामी 3 नवंबर को पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के सम्मेलन के साथ ही दूसरे चरण की इस यात्रा का समापन होगा।राजद ने इस यात्रा को ऐतिहासिक और सफल बनाने के लिए कमर कस ली है। तेजस्वी यादव इस यात्रा के द्वारा केंद्र और राज्य सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरने की कोशिश करेंगे। तेजस्वी की इस यात्रा को अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले काफी अहम माना जा रहा है।

Copyright © 2020 lcyz186.cn
Powerd By